हमारे बारे में

आप यहां हैं:होम > हमारे बारे में

इंडियन इंस्टीट्यूट फॉर ह्यूमन सेटलमेन्ट्स (आईआईएचएस) न्‍यायसंगत, दीर्घकालिक एवं प्रभावशाली रूपांतरण के लिए प्रतिबद्ध एक राष्‍ट्रीय शैक्षिक संस्‍थान है।

2050 तक, आधे भारतीय नगरीय क्षेत्रों में निवास करेंगे क्‍योंकि देश गहरे आर्थिक, राजनीतिक, सामाजिक, सांस्‍कृतिक एवं पारिस्थितिक प्रभावों के साथ नाटकीय नगरीय परिवर्तन से गुजर रहा है। हमारा भविष्‍य ज्ञान एवं तत्‍परता से नियंत्रित किए जा रहे इस नगरीय परिवर्तन पर निर्भर करता है। अभी तक नगरीय भारत के न्‍यायसंगत तथा सुव्‍यवस्थित विकास एवं रूपांतरण में मौलिक बाधा न तो पूंजी है और न ही प्रौद्योगिकी। मुख्‍य बाधा साझे हित के लिए प्रतिबद्ध सुशिक्षित पेशेवरों का पर्याप्‍त संख्‍या में उपलब्‍ध न होना है जो नगरीय परिवर्तनकारियों की भूमिका निभा सकते हैं।

आईआईएचएस का उद्देश्‍य भारत के नगरीय परिवर्तन की चुनौतियों एवं अवसरों पर केंद्रित शोध एवं नवाचार के लिए स्‍वतंत्र रूप से वित्‍त पोषित तथा प्रबंधित राष्‍ट्रीय विश्‍वविद्यालय की स्‍थापना करना है। प्रस्‍तावित आईआईएचएस विश्‍वविद्यालय गुणवत्‍तापूर्ण परिसर आधारित शिक्षा एवं शोध, कार्यकारी पेशेवरों के लिए प्रशिक्षण एवं आजीवन अधिगम, दूरस्‍थ एवं मिश्रित अधिगम के एकीकृत कार्यक्रम, तथा कार्यकुशल एवं  सलाहकार सेवाओं की एक सम्‍पूर्ण प्रभावशाली श्रृंखला की मेजबानी करेगा। विश्‍वविद्यालय दक्षिण एशिया के प्रकरण पर आधारित और उनके साथ संबद्ध सिद्धांत और व्‍यवहार को मिलाने वाला एक सशक्‍त अंतर्अनुशासनीय अभिविन्‍यास होगा और विश्‍व भर के ज्ञान को आकर्षित करेगा।

आईआईएचएस भारत भर में प्रस्‍तावित प्रसार संस्‍था है। बैंगलोर में इसका 55 एकड़ आधार परिसर छात्रों और शिक्षकों के आवास सहित शैक्षिक, अनुसंधान एवं सामाजिक बुनियादी ढांचे से मिलकर बना है और उत्‍तरी बैंगलोर में स्थित आईआईएचएस सिटी परिसर द्वारा जोड़ा जाएगा।

आईआईएचएस आवास एवं शहरी गरीबी उन्‍मूलन मंत्रालय द्वारा राष्‍ट्रीय संसाधन केंद्र (एनआरसी) में भी नामित किया गया है।