जमशेद गोदरेज

Jamshyd Godrejजमशेद गोदरेज, गोदरेज एंड बॉयस मैन्‍युफैक्‍चरिंग कंपनी लिमिटेड बोर्ड के चेयरमैन आईआईएचएस बोर्ड में सदस्‍य के रूप में कार्य करते हैं।

शिक्षा:
जमशेद इलिनोइस इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी, यूएसए (1972) से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्‍नातक हैं।

कैरियर विशेषताएं

जमशेद 1974 में गोदरेज एंड बॉयस मैन्‍युफैक्‍चरिंग कंपनी लिमिटेड में ए‍क निदेशक के रूप में शामिल हुए। उन्‍होंने घरेलू उपकरण, उपभोक्‍ता टिकाऊ वस्‍तुओं, कार्यालय उपकरण, औद्योगिक उत्‍पादों, उपभोक्‍ता उत्‍पादों और सेवाओं के क्षेत्र में सबसे सफल समूह का नेतृत्‍व किया। वह सीआईआई शोहराबजी गोदरेज ग्रीन बिजनेस सेंटर के भी सदस्‍य हैं।

पुरस्‍कार एवं सम्‍मान

अप्रैल 2003 में, जमशेद को भारत के राष्‍ट्रपति ने ”पद्म भूषण” पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया।

पसंदीदा क्षेत्र

सीआईआई (भारतीय उद्योग परिसंघ) और भारतीय मशीन टूल निर्माता संघ के पूर्व अध्‍यक्ष जमशेद सबसे बड़े लेकिन सबसे गरीब सामाजिक आर्थिक समूह में नवाचार, पर्यावरण और अवसरों के लिए अपने शोध के प्रति बहुत ही समर्पित हैं। वे हरित प्रौद्योगिकी में सक्रिय रूचि रखते हैं।

एस्‍पेन इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया के अवकाश प्राप्‍त चेयरमैन होने के अलावा, वह वर्ल्‍ड वाइड फंड फॉर नेचर- इंटरनेशनल के उपाध्‍यक्ष हैं और वर्ल्‍ड वाइड फंड फॉर नेचर- भारत के अवकाश प्राप्‍त ट्रस्‍टी एवं अध्‍यक्ष हैं। इसके अलावा जमशेद विश्‍व संसाधन संस्‍थान, यूएसए और क्‍लाइमेट वर्क्‍स फाउंडेशन, यूएसए के निदेशक भी हैं।

एक उत्‍साही नौकायन प्रेमी, जमशेद ने भारत के पश्चिमी तट के किनारे व्‍यापक रूप से समुद्री यात्रा की है।