जर्क्‍सेस देसाई

आप यहां हैं: मुखपृष्ठ (होम) > हमारे बारे में > प्रवर्तक तथा बोर्ड > जर्क्‍सेस देसाई

Xerxes Desaiजर्क्‍सेस को एक दूरदर्शी, वैश्विक रूप से एक ऐसे शख्‍स के रूप में जाना जाता है जिन्‍होंने Titan (टाइटन) को कुछ अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर प्रसिद्ध भारतीय ब्राण्‍डों में से एक बनाया।

शिक्षा:
बम्‍बई और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटीज से स्‍नातक और बम्‍बई के एल्फिनस्‍टोन कॉलेज में फेलो और लैक्‍चरर, जर्क्‍सेस ने सुप्रसिद्ध संस्‍थानों जैसेकि टाटा इंस्‍टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज, इंटरनेशनल इंस्‍टीट्यूट फॉर पॉपुलेशन स्‍टडीज और इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ साइंस के ट्रस्‍ट बोर्डों या प्रबंधन समितियों में सेवा करते हुए शिक्षा में अपनी सहभागिता बनाए रखी।

कैरियर के मुख्‍य बिन्‍दु

उन्‍होंने अपने कैरियर की शुरुआत टाटा ऐडमिनिस्ट्रिेटिव सर्विस के एक सदस्‍य के रूप में टाटा समूह के साथ की, और उन्‍होंने टाटा केमिकल्‍स, टाटा इंडस्‍ट्रीज, इंडियन होटल्‍स और टाटा प्रेस में काम किया है। उन्‍होंने 1980 के दशक के आरम्‍भ में टाइटन इंडस्‍ट्रीज शुरू की, जिसने भारत के हाथ में पहनने वाली घड़ी के उद्योग में क्रान्ति ला दी और टाइटन सर्वाधिक प्रशंसित भारतीय घड़ी ब्राण्‍ड बन गया।

जर्क्‍सेस वर्तमान में नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ एडवान्‍स्‍ड स्‍टडीज, नेशनल सेंटर फॉर परफॉर्मिंग आर्ट्स और टाइटन फाउंडेशन फॉर एजुकेशन के बोर्डों में शामिल हैं।

पुरस्‍कार एवं सम्मान

1994 में, जर्क्‍सेस ने एडवरटाइजिंग और मार्केटिंग हाल ऑफ फेम में प्रवेश किया। 1997 में, बिजनेस वर्ल्‍ड द्वारा आयोजित सर्वे में उन्‍हें भारत के 5वें सर्वश्रेष्‍ठ सीईओ का दर्जा दिया गया। 2007 में, उन्‍हें नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन और बिजनेस वर्ल्‍ड की ओर से लाइफटाइम एचीवमेंट पुरस्‍कार मिला।

अभिरुचि के क्षेत्र

जर्क्‍सेस को भारत के नगरीय मामलों में खासी अभिरुचि है। टाटा ग्रुप से लोन पर, वह आरंभिक 1970 के दशक में श्रीष बी पटेल और चार्ल्‍स कॉरिया के साथ न्‍यू बॉम्‍बे प्रोजेक्‍ट का हिस्‍सा थे। 1980 के दशक में, उन्‍होंने प्रधानमंत्री राजीव गांधी द्वारा गठित शहरीकरण के राष्‍ट्रीय आयोग में भी सेवा की। जर्क्‍सेस द्वारा लिखित अखबारों के लेखों में नगरीय मामलों में उनकी निरंतर रुचि और बंगलौर से संबंधित नगरीय मामलों में उनकी सक्रिय सहभागिता स्‍पष्‍ट रूप से झलकती है।

आनंद के अपने सीमित क्षण वह कला एवं साहित्‍य, पुस्‍तकों, पश्चिमी शास्‍त्रीय संगीत एवं कुत्‍तों के साथ बिताना पसन्‍द करते हैं।