नगरीय कैफे

आप यहां हैं: Home > Platforms > नगरीय कैफे

IIHS-urbancafe

नगरीय कैफे अपनी तरह का एक ऐसा चर्चा फोरम है जो कॉफी के एक कप के साथ-साथ विभिन्‍न नगरीय मुद्दों के बारे में चर्चा करने के लिए विविध पृष्‍ठभूमियों से ओजस्‍वी व्‍यक्तियों को आमं‍त्रित करता है। ये चर्चाएं पड़ोसी इलाकों, कस्‍बों और उन नगरों के नवीनीकरण से संबंधित मुद्दों के प्रति जागरुकता व इस ओर ध्‍यान आकर्षित करने पर लक्षित होती हैं, जहां प्रतिभागी रहते हैं।

संवाद एक मॉडरेटर द्वारा शुरू किए जाएंगे जो प्रतिभागियों के मध्‍य बातचीत को आगे बढ़ाएगा। प्रतिभागी नगरीयकरण, इसकी चुनौतियों और संभावित समाधानों पर लगभग एक घंटे तक एक विशिष्‍ट शीर्षक की चर्चा करते हैं।

एक नगरीय कैफे सत्र का उद्देश्‍य विचारों का विनिमय, विभिन्‍न संभावनाओं को समझना और विचारों का साझा करना तथा संभावित तौर पर कार्यवाही शुरू करना है। कार्यक्रम का प्रयास विविध पक्षकारों के मध्‍य साझेदारी को कायम रखना तथा उनके बीच संबंधों को सहारा देने के लिए एक मंच के रूप में सेवा करना है। यह जरूरी मुद्दों से निपटने के लिए सहक्रियाशील समस्‍या समाधान मॉडल की दिशा में विचारों के रूप में योगदानों का स्‍वागत करता है और संभावित रूप से इसके लिए सामूहिक कार्यवाही को प्रोत्‍साहन देता है।

आगामी नगरीय कैफे सत्र:
मौजूदा शैक्षिक प्रणाली में क्रान्तिकारी बदलाव करना, पुन:निर्माण और समीक्षा करना

पुराना प्राज्‍ना हाईस्‍कूल प्‍लेग्रांउड, द्वितीय मेन रोड सदाशिवनगर
बंगलौर, कर्नाटक
बुधवार, 30 अप्रैल 2014। सायं 4 बजे से 6 बजे तक


पिछला नगरीय कैफ सत्र:
नगरों की संवृद्धि में नगरीय वृत्तिकों की भूमिका
वेल्‍लोर इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी (वीआईटी), वेल्‍लोर, तमिलनाडु
गुरुवार, 30 जनवरी 2014