कार्यक्रम

आप यहा हैं: होम > अभ्यास (प्रैक्टिस) > कार्यक्रम

जलवायु विकास ज्ञान नेटवर्क (सीडीकेएन), यूके और अटकिंस के सहयोग से आईआईएचएस बैंगलोर में शहरी जल एवं स्‍वच्‍छता के स्थितिपरक विश्‍लेषण से जुड़े एक अध्‍ययन का आयोजन कर रहा है। इस अध्‍ययन का उपयोग जल एवं स्‍वच्‍छता हेतु बैंगलोर के लिए समुत्‍थान कार्य योजना की सिफारिशों को विकसित करने के लिए किया जाएगा। अध्‍ययन में पूरे शहर के जल एवं स्‍वच्‍छता क्षेत्र के मुद्दों का विश्‍लेषण तथा बैंगलोर में दो स्‍थानों का स्‍थल केस अध्‍ययन शामिल था। स्‍थल केस अध्‍ययनों से प्राप्‍त निष्‍कर्ष  कार्य योजना के प्रारूप और पूरे शहर के विश्‍लेषण के साथ परामर्श में प्रस्‍तुत किए जाएंगे।

जल एवं स्‍वच्‍छता की कार्य योजना को परिष्‍कृत करने की इस प्रक्रिया के भाग के रूप में, आईआईएचएस कार्य योजना के प्रारूप पर बैंगलोर शहर के हितधारकों की प्रतिक्रिया और फीडबैक प्राप्‍त करने के क्रम में उनको आमत्रित कर रहा है।

विचार-विमर्श सभा का आयोजन 28 फरवरी 2014 (सुबह 10:30 बजे से 2:00 बजे तक) को आईआईएचएस बैंगलोर शहर परिसर में किया जाएगा।  इसमें गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों के अलावा कर्नाटक सरकार (बीडब्‍ल्‍यूएसएसबी, कर्नाटक भूजल प्राधिकरण, कर्नाटक राज्‍य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, ईएमपीआरआई, आदि) भारतीय विज्ञान संस्‍थान, सीडीडी सोसायटी, भारतीय भूवैज्ञानिक सोसायटी, सामाजिक एवं आर्थिक परिवर्तन संस्‍थान और भारतीय राष्‍ट्रीय विधि विश्‍वविद्यालय के प्रतिभागी भाग लेंगे।

पिछले कार्यक्रम

नगरीय नीति संवाद 2014
31 जुलाई – 1 अगस्‍त 2014

यह कार्यक्रम केवल आमंत्रित व्‍यक्तियों के लिए है। यदि आप भाग लेने में रूचि रखते हैं तो कृपया cidicheria (at) iihs (dot) ac (dot) in या ganand (at) iihs (dot) ac (dot) in को मेल लिखें।

परिचय

रॉकफेलर फाउंडेशन- आईआईएचएस नगरीय भारत नीति समर्थन भागीदारी (2012-14) वर्तमान शासन, आर्थिक, सामाजिक-राजनीतिक, पारिस्थितिक एवं सांस्‍कृतिक प्रक्षेप पथों के संदर्भ में भारत के शहरी रूपांतरण को निर्धारित करती है। यह उन नीति चिंताओं को समझने का प्रयास है जो वृद्धि-निष्‍पक्ष-सहनशील-परिवर्तनकारी विकास स्‍पेक्‍ट्रम को फैलाती हैं, विशेष रूप से तब जब दक्षिण परिदृश्‍य की तुलना में इनका अवलोकन किया जाता है।

आईआईएचएस के पास शोध और कार्य नीति सारपत्रों, शिक्षण-अधिगम सामान एवं डिजिटल साक्षात्‍कारों का एक सेट तैयार करने की प्रक्रिया है जो पूरे भारत की शहरीकरण चुनौतियों के प्रश्‍नों की चर्चा करने की दिशा में निर्देशित हैं। ये राष्‍ट्रीय, राजकीय और शहरी नीति निर्धारकों, शिक्षार्थियों, शोधकर्ताओं, उद्यमियों, तथा भारत में नागरिक समाज नेताओं पर लक्षित हैं।

नगरीय नीति संवाद में नगरीय भारत नीति 1 समर्थन भागीदारी के तहत कार्यक्रमों की एक श्रृंखला शामिल है, जिसमें से पहला निम्‍न विषयवस्‍तुओं को कवर करेगा:

  • भारत का शहरी भविष्‍य
  • शहरी अर्थव्‍यवस्‍था
  • शहरी गरीबी
  • शहरी आवासन
  • शहरी जल आपूर्ति और स्‍वच्‍छता
  • शहरी परिवहन

संवाद ड्राफ्ट आउटपुट, मुख्‍य रूप से कार्य पत्रों की समीक्षा करेगा और प्रतिभागियों के गहरे अनुभव एवं अंतर्दृष्टि से इन्‍हें समृद्ध करेगा।

पहला दिन (31 जुलाई 2014)

Draft AGENDA

09:30 – 10:00 पंजीयन
10:00-10:30 परिचय
10:30 – 11:15 सत्र 1
भारत में शहरीकरण और विजन 2030 आरोमार रेवीरेवी, आईआईएचएस द्वारा प्रस्‍तुति
11:15 – 11:30 चाय अवकाश
11:30 – 13:00 सत्र 1(जारी)
भारत में शहरीकरण और विजन 2030 पैनल चर्चा और खुला निमंत्रण
13:00 – 14:00 दोपहर का भोजन
14:00 – 16:00 सत्र 2
शहरी अर्थव्‍यवस्‍था: नए निर्धारण की दिशा में श्रिया आनंद, आईआईएचएस द्वारा प्रस्‍तुति
पैनल चर्चा और खुला निमंत्रण
16:00 – 16:30 चाय अवकाश
16:30 – 18:30 Session 3
आवास की कमी का परिचयन गौतम भान, आईआईएचएस द्वारा प्रस्‍तुति
पैनल चर्चा और खुला निमंत्रण
दूसरा दिन (1 अगस्‍त 2014)

कार्यसूची का प्रारूप

09:30 – 11:30 सत्र 4
शहरी गरीबी गौतम भान, आईआईएचएस द्वारा प्रस्‍तुति
पैनल चर्चा और खुला निमंत्रण
11:30 – 11:45 चाय अवकाश
11:45 – 13:30 सत्र 5
भारत में शहरी परिवहन: चुनौतियां और सिफारिशें दीपक बैंदुर, आईआईएचएस द्वारा प्रस्‍तुति
पैनल चर्चा और खुला निमंत्रण
13:30 – 14:30 दोपहर का भोजन
14:30 – 16:30 सत्र 6
शहरी जल आपूर्ति एवं स्‍वच्‍छता: नीति संवेग बनाए रखना कविता वानखेडे, आईआईएचएस द्वारा प्रस्‍तुति
पैनल चर्चा और खुला निमंत्रण
16:30 – 16:45 चाय अवकाश
16:45 – 18:00 समाप्ति